प्रसङ्ग

  • स्रोत - संस्कृत

प्रसङ्ग के मैथिली अर्थ

संज्ञा

  • लगाव
  • संदर्भ
  • अवसर

Noun

  • context, reference, occasion.

प्रसङ्ग के अँग्रेज़ी अर्थ

Noun, Masculine

  • context
  • occasion
  • sexual intercourse, coition

प्रसङ्ग के हिंदी अर्थ

प्रसंग, परसंग

संज्ञा, पुल्लिंग

  • विवेचन विषय अथवा बातचीत का वह पहले वाला अंश जिसके संबंध में अब कुछ और कहा जा रहा हो, विवेच्य विषय का स्वरूप और परंपरा

    उदाहरण
    . सभा में विज्ञान के जिस प्रसंग पर बातचीत चल रही है उस पर अभी और चर्चा शेष है। . मैं इस प्रसंग पर अब कोई बात नहीं सुनना चाहता हूँ।

  • बातों का परस्पर संबंध, विषय का लगाव, अर्थ की संगति, जैसे-शब्दार्थ पूरा न जानकर भी वे प्रसंग से अर्थ लगा लेते हैं
  • मेल, संबंध, लगाव, संगति
  • स्त्री-पुरुष- संयोग,मैथुन, जैसे-स्त्रीप्रसंग

    उदाहरण
    . दारु बिन सिंग बानरहित निखंग भयौ, जंग भयौ दारुन दुहूँ के परसंग मैं।

  • अनुरक्ति, लगन
  • बात, वार्ता, विषय

    उदाहरण
    . जस मानस जेहि विधि भयउ जग प्रचार जेहि हेतु। अब सोइ कहौं प्रसंग सब सुमिरि उभा वृषकेतु। . अवध सरिस प्रिय मोहिं न सोऊ । यह प्रसंग जानइ कोउ कोऊ।

  • उपयुक्त संयोग, अवसर, मौक़ा

    उदाहरण
    . तब तें सुधि कछु नाहीं पाई । बिनु प्रसँग तहँ गयो न जाई ।

  • हेतु, कारण

    उदाहरण
    . करिहहिं विप्र होम मख सेवा। तेहि प्रसंग सहजहि बस देवा।

  • विषयानुक्रम, प्रस्ताव, प्रकरण
  • विस्तार, फैलाव

    उदाहरण
    . कर सर धनु, कटि रुचिर निषंग। प्रिया प्रीति प्रेरित वन बीथिन विचरत कपट कनकमृग संग। भुज विशाल, कमनीय कंध उर श्रमसीकर सोहै साँवरे अंग। मनु मुकुतामणि मरकत गिरि पर लसत ललित रवि किरन प्रसंग।

  • अनुचित संबंध
  • सारांश
  • व्याप्तिरूप संबंध
  • प्राप्ति, उपलब्धि

प्रसङ्ग के अंगिका अर्थ

परसंग

संज्ञा, पुल्लिंग

  • दूसरे के साथ

प्रसङ्ग के ब्रज अर्थ

परसंग

पुल्लिंग

  • प्रसंग, लगाव, संबंध

अन्य भारतीय भाषाओं में प्रसंग के समान शब्द

उर्दू अर्थ :

हवाला - حوالہ

पंजाबी अर्थ :

प्रसंग - ਪ੍ਰਸੰਗ

परसंग - ਪਰਸੰਗ

गुजराती अर्थ :

प्रसंग - પ્રસંગ

प्रकरण - પ્રકરણ

घटना - ઘટના

कोंकणी अर्थ :

प्रसंग

सूचनार्थ : औपचारिक आरंभ से पूर्व यह हिन्दवी डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@hindwi.org पर सूचित कीजिए या सुझाव दीजिए।

सब्सक्राइब कीजिए

आपको नियमित अपडेट भेजने के अलावा अन्य किसी भी उद्देश्य के लिए आपके ई-मेल का उपयोग नहीं किया जाएगा।

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा